नैनीताल के पास इस खूबसूरत रहस्यमय जगह से लोग आज भी है अनजान, जानें क्या हैं इस स्वर्गीय जगह का रहस्य

इस लेख में हम नैनीताल के पास के खूबसूरत हिल स्टेशन “Naukuchiatal” के बारे में बताएंगे, नौकुचियाताल उत्तराखंड के प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक है, जहां प्रकृति की खूबसूरती और शांति का आपसी संगम होता है। यहां की प्राकृतिक सौंदर्य और एकांत आपको अपने साथ खींच लाती हैं और एक यात्रा के दौरान आपको स्वयं को पुनर्जीवित महसूस कराते हैं। इस ब्लॉग आर्टिकल में, हम आपको नौकुचियाताल के प्रमुख पर्यटन स्थलों, घूमने के समय, मौसम की जानकारी और वहां जाने के लिए आसान तरीकों के बारे में बताएंगे।

Naukuchiatal

Naukuchiatal

नौकुचियाताल ऊंचे नीचे पहाड़ों के बीच में स्थित है और यह उत्तराखंड राज्य के नैनीताल जिले में स्थित है। यह एक पित्तोरागढ़ बांध द्वारा बने छोटे से झील के पास स्थित है, जिसे लोग “नौकुचियाताल” के नाम से जानते हैं। इसका नाम ‘नौ कुचियों का ताल’ इसलिए है क्योंकि इसमें नौ रहस्यमय कुण्डों का निर्माण हुआ है, जो बारिश या बाढ़ के दौरान दिखाई देते हैं|

नौकुचियाताल एक सुंदर झीलों से परिपूर्ण पर्यटन स्थल है जो कीला नौकुचियाताल के आसपास स्थित है। यह झीलों की नगरी गर्मियों के महीनों में खूबसूरत पेड़ों और पहाड़ों के बीच एक आरामदायक विश्राम करने की जगह है। नौकुचियाताल एक साधारण और स्वच्छ जलधारा है जहां आप बोट यात्रा का आनंद ले सकते हैं। कई पर्यटक यहां वन ट्रेकिंग का आनंद लेने आते हैं और इस खूबसूरत इलाके की सैर का आनंद लेते हैं।

नौकुचियाताल आद्यात्मिक और धार्मिक महत्व के केंद्र माना जाता है। इसे भारतीय मान्यताओं के अनुसार नवदुर्गा का स्थान माना जाता है और नौकुचियाताल के चारों ओर कई प्रमुख मंदिर स्थित हैं। नौकुचियाताल के प्रमुख मंदिर में नवदुर्गा मंदिर, हनुमान मंदिर, शिव मंदिर और गर्भ ज्ञानेश्वर महादेव मंदिर शामिल हैं। यहां आप आध्यात्मिकता की अनुभूति कर सकते हैं और शांति और स्थिरता की तलाश में आत्म-समर्पण का अनुभव कर सकते हैं|

यदि आप प्राकृतिक सौंदर्य के प्रेमी हैं, तो नौकुचियाताल आपके लिए एक स्वर्ग है। यहां आप पहाड़ों, झीलों और घने जंगलों के आसपास घूम सकते हैं और यहां आपको प्रकृति की अद्वितीय खूबसूरती का आनंद लेने का मौका मिलेगा। नौकुचियाताल झील प्रमुख आकर्षण है, जहां आप बोट यात्राएं कर सकते हैं और ताल की सुंदरता को अपने आंतरिक दर्शक के रूप में अनुभव कर सकते हैं। छोटे नौकायनों में तैरने का अनुभव भी आपकी यात्रा को अनूठा अवसर प्रदान करेगा |

the lake resort naukuchiatal, hotels in naukuchiatal

नौकुचियाताल में आवास करने के लिए विभिन्न आद्यात्मिक आश्रम और योगाश्रम भी हैं। यहां आप ध्यान और योग का अभ्यास कर सकते हैं और एक साथ शरीर, मन और आत्मा के भीतरी शांति को प्राप्त कर सकते हैं।

नौकुचियाताल यात्रा के दौरान आप आसपास घूमने की जगह खोज कर सकते हैं और पर्यटन का आनंद ले सकते हैं। कई घूमने के स्थल जैसे कि भीमताल, सतताल, नैनीताल और रामगर के आसपास स्थित हैं, जहां आप प्राकृतिक वातावरण और आस्था के लिए और भी दिलचस्प अनुभव प्राप्त कर सकते हैं।

naukuchiatal weather

नौकुचियाताल को घूमने के लिए सबसे अच्छा समय मार्च से जून और सितंबर से नवंबर तक है। यहां के मौसम में शांतिपूर्ण और स्वस्थ रहता है और आपको आसानी से पर्यटन का आनंद लेने का मौका मिलता है। इस दौरान तापमान मध्यम रहता है और आकर्षक पर्यटन स्थलों की भीड़ भी कम होती है। हालांकि, यदि आप बर्फीले पहाड़ों और बर्फ की झीलों का आनंद लेना चाहते हैं, तो जनवरी और फरवरी भी अच्छे महीने हो सकते हैं।

naukuchiatal temperature

नौकुचियाताल का मौसम उमस और सुहाना होता है, इसलिए अपनी यात्रा के लिए सुनहरा मौसम चुनें। मार्च से जून तक, तापमान 15°C से 30°C तक रहता है और यहां गर्मी का मौसम रहता है। सितंबर से नवंबर तक, तापमान 10°C से 25°C तक रहता है और आप इस मौसम में आरामदायक तापमान के साथ यात्रा कर सकते हैं। बर्फीले मौसम में तापमान नीचे जा सकता है, इसलिए यदि आप जनवरी और फरवरी में जाते हैं, तो ठंडी में अपने अंदरीय पदार्थों का ध्यान रखें।

कैसे जाएं

नौकुचियाताल पहुंचने के लिए आप दिल्ली या देहरादून से हवाई यात्रा या ट्रेन का इस्तेमाल कर सकते हैं। नजदीकी रेलवे स्टेशन है दांपा, जो नौकुचियाताल से लगभग 25 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। आप वहां से टैक्सी, बस या ऑटोरिक्शा का इस्तेमाल करके अपने आगंतवान के स्थान पर पहुंच सकते हैं। यदि आप खुद की गाड़ी से यात्रा कर रहे हैं, तो आपको नौकुचियाताल के लिए कार यात्रा करके भी आसानी से पहुंच है।

कश्मीर के इस प्यारे हिल स्टेशन से घूमने की यात्रा जरूर करें, यह जगह कोई स्वर्ग से कम नहीं हैं 

Naukuchiatal एक पर्यटन स्थल है जहां आप प्रकृति के आनंद का आनंद ले सकते हैं और सुकून और चैन का आनंद उठा सकते हैं। इसके अलावा, यहां जाने के लिए आसान रास्ते और सामरिक सुविधाएं हैं। इसलिए, अगली यात्रा के लिए नौकुचियाताल को अपने गंतव्य सूची में शामिल करें और इस खूबसूरत स्थल का आनंद लें!

Sharing Is Caring:

नमस्कार! दोस्तों मेरा नाम राजू राईका हैं, ओर मुझे ब्लॉगिंग करना बहुत अच्छा लगता हैं, मैं 2019 से ब्लॉगिंग कर रहा हूं और inhindibio.com का मैं Owner हूं।

Leave a Comment